पहली बार की इंटरनेट बैंकिंग और गलत खाते में भेज दिए पैसे, न हो परेशान..पूरा पैसा आएगा वापस

Quaint media

New Delhi: नया-नया सीखा इंटरनेट बैंकिंग करना और पहली ही बार में ट्रांजेक्शन करते हुए कर दिए ग़लत खाते में पैसे ट्रांसफर। तो न हो परेशान अब आपके पूरे पैसे वापस आ जाएंगे। जाहिर है आज डिजिटल इंडिया के समय में हर कोई ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करना ही पसंद करने लगा है। लेकिन ऑनलाइन पैसे ट्रांफर करते वक्त कई बार गलती भी हो जाती है और पैसे दूसरे अकाउंट में ट्रांसफर हो जाते हैं।

अनजान व्यक्ति के अकाउंट में हो गए ट्रांसफर तो बैंक को दें सूचना

जब कभी भी आपसे ऐसा गलती हो जाये तो तुरंत अपने बैंक को सूचित करें। जिस भी बैंक में आपका खाता है उस बैंक की ब्रांच में जाकर अधिकारी को सुचना दें और बताएं कि, आपके साथ ऐसा हुआ है। आपको बता दें कि, बैंक अपने ग्राहक की इजाजत के बिना पैसा ट्रांसफर नहीं करता है। ऐसे में अपने बैंक को इंटरनेट बैंकिंग के बारे में विस्‍तार से जानकारी दें। इसमें ट्रांजैक्‍शन की तारीख और समय, अपना अकाउंट नंबर और जिस अकाउंट नंबर में भूल से पैसे ट्रांसफर हुए से जुड़ी सभी जानकारी दें। ऐसे में तुरंत सुचना दिए जाने के बाद बैंक इस ट्रांजेक्शन को रोक देगा और फिर पैसा आपके पास पैसा आ जायेगा।

net banking

नेटबैंकिंग के इस्तेमाल में भरते सावधानी

डिजिटल होती दुनिया में सभी घर बैठे ही ऑनलाइन फंड ट्रांसफर करना बेहतर समझता है। जाहिर है यह बेहद आसान तरीका है। लेकिन आप जब कभी ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करते समय डिटेल डाल रहे हों, उसे दोबारा चेक कर लीजिए। बेहतर रहेगा कि बड़ी राशि ट्रांसफर करने से पहले छोटी राशि ट्रांसफर कर चेक कर लीजिए कि वह सही प्राप्‍तकर्ता के अकाउंट में जा रहा है. ऐसा ना करने पर आपको कई बार परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

बैंक में करें इन्फॉर्म और शिकायत करें दर्ज

अगर आप पहली बार नेटबैंकिग इस्तेमाल कर रहे हैं और गलती से किसी अनजान के अकाउंट में पैसे ट्रांसफर कर दिए हैं। तो तुरंत अपनी ब्रांच जाकर शिकायत दर्ज करवाएं। बैंक अपने ग्राहक की अनुमति के बिना किसी को भी पैसे ट्रांसफर नहीं कर सकता। इसके अलावा, बैंक आपने ग्राहकों के बारे में जानकारी भी नहीं देते हैं। ऐसे में उनसे आग्रह करें कि, गलती से जो दूसरे के अकाउंट में पैसे ट्रांसफर हो गए हैं, उसे वापस उसी अकॉउंट में भेज दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *