रिजर्व बैंक मोदी सकरार को देगा 50 ह्जार करोड़ रुपए, आम बजट के अनुकूल लिया गया फैसला

RBI

New Delhi:  रिजर्व बैंक ने केंद्र सरकार के लिए एक बड़ा फैसला लिया है। 30 जून 2018 को समाप्त वित्त वर्ष के लिए केंद्र सरकार को 50 हजार करोड़ रुपए का लाभांश देने का निर्णय लिया है। यह फैसला आम बजट के प्रावधानों के अनुकूल है।

आपको बता दें कि, इस वित्त वर्ष केंद्र सरकार की लाभार्थी योजनाओं से आरबीआई को अधिक फायदा पहुंचा है जिसको देखते हुए अब सरकार ने फैसला लिया है कि, वह केंद्र सरकार को 50 हजार करोड़ रुपए देंगे। रिजर्व बैंक का यह कदम केन्द्र सरकार के आम बजट के प्रावधानों के अनुकूल है और इससे राजकोषीय रूपरेखा को बनाये रखने में मदद मिलेगी। जुलाई से जून वित्तवर्ष का अनुपालन करने वाले रिजर्व बैंक ने पिछले वित्त वर्ष की तुलना में 63 प्रतिशत अधिक लाभांश दिया है।

हाल ही में एक स्पेशल मीटिंग हुई जिसमे रिजर्व बैंक ने अधिकारियों के साथ बैठकर यह फैसला लिया। तो वहीं मामले पर केंद्रीय बैंक ने जारी बयान में कहा, ‘रिजर्व बैंक के निदेशकों के केंद्रीय बोर्ड ने आठ अगस्त 2018 को हुई बैठक में सरकार को 30 जून 2018 को समाप्त वित्त वर्ष के लिए 50 हजार करोड़ रुपए का अधिशेष हस्तांतरित करने को मंजूरी दी है।’ ऐसे में एक बार फिर केंद्र सरकार को आरबीआई की तरफ से शानदार मुनाफा दिया गया है।

 

आपकी जानकरी के लिए बता दें कि, इससे पहले इस साल मार्च में उसने सरकार को वित्त वर्ष के लिए 10 हजार करोड़ रुपए का अंतरिम लाभांश दिया था। यही नहीं साल की शुरुआत में भी सरकार को करीब 38 हजार करोड़ रुपए की राशि दी गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *