वाट्सएप पर आए कोई फालतू लिंक, तो भूल कर भी न करें ओपन.. उठाना पड़ सकता है भारी नुकसान

Whatsapp

New Delhi: आज के सोशल मीडिया युग में हर कोई इतना मशगूल हो गया है कि उसको इंटरनेट के फ़ायदे और नुक्सान नजर ही नहीं आते हैं। हर कोई बस अपने फायदे के लिए इसका इस्तेमाल करता है। लेकिन आज हम आपको बताते हैं कि, सोशल मीडिया के कितने भारी नुक्सान आपको उठाना पड़ सकता है।

वैसे तो आजकल सोशल मीडिया पर सभी एक्टिव हैं लेकिन बहुत कम लोग ऐसे हैं जो इसके फायदे और नुकसान के बारे में जानते हैं। लगातार बढ़ रहे सोशल मीडिया के प्रयोग से अलग-अलग तरीके के क्राइम भी बढ़ रहे हैं। आपकी एक गलती से लोग आपके बारे में सबकुछ जान सकते हैं, आपको आसानी से ट्रैक कर सकते हैं। ब्लैकमेलिंग से लेकर आपके पर्सनल डेटा से भी छेड़छाड़ किया जा सकता है।

 

गौरतलब है कि, आज भारत में इंटरनेट यूजर्स की संख्या बहुत तेज़ी से बढ़ी है और आकड़ा नए रिकॉर्ड को छू चुका है। लेकिन कई लोग बस इसके इस्तेमाल को ही जानते हैं, वह यह नहीं जानते की इसके नकारात्मक प्रभाव कितने अधिक हैं। आपकी जासूसी करने के लिए स्टॉकर आपके फोन को इस्तेमाल कर सकता है और सारा डाटा चुरा लेगा। आपको बता दें कि, स्टॉकर आपके वाट्सएप में मैसेज भेजकर आपके फोन के साथ छेड़छाड़ करता है और उसमे दिए गए लिंक को जैसे ही आप ओपन करते हैं आपका डाटा उसके पास पहुंच जाता है। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, लोगों को स्टॉक करने के लिए स्टॉकर किसी अंजान नंबर से उनके व्हाट्सऐप पर या फिर नॉर्मल मैसेज करते हैं। इस मैसेज में छोटा सा लिंक दिया होगा जो दिखने में बिल्कुल गूगल के लिंक की तरह ही होगा और ये मैसेज किसी सेलेब्रिटी की फोटो या किसी खास गवर्नमेंट स्कैम का नाम दिया गया होगा। जिसे देखकर लोग आमतौर पर क्लिक कर बैठते हैं। उसके बाद वो साइबर क्राइम का शिकार हो जाते है। इस पर क्लिक करने के बाद आपके बारे में सभी जानकारी स्टॉकर्स के पास पहुंच जाती है और वे उस से छेड़छाड़ कर सकते हैं. तो ऐसे में आपको हर वक्त सावधान रहने की जरुरत है।

इंटरनेट पर ऐसे IP लॉगर्स और ट्रैकर्स मैजूद हैं जिसके जरिए लोकेशन का पता किया जा सकता है। इसके जरिए आपके जिले, घर सभी के पारे में पता किया जा सकता है कि आप कहां से आते हैं, कहां जाते हैं, आपका ऑफिस कहां है या गांव कौन सा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *